पितृ पक्ष में क्या क्या नहीं करना चाहिए

0
1461

आज हम आपको कुछ जरूरी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं पितृ पक्ष में क्या करें और क्या नहीं.

हिंदू धर्म में पितृ पक्ष का काफी महत्व होता है. माना जाता है कि जो लोग पितृ पक्ष में पूर्वजों का तर्पण नहीं कराते, उन्हें पितृदोष लगता है. श्राद्ध के बाद ही पितृदोष से मुक्ति मिलती है. श्राद्ध से पितरों को शांति मिलती हैं. वे प्रसन्‍न रहते हैं और उनका आशीर्वाद परिवार को प्राप्‍त होता है. यह वह समय होता है जब हम पित्तरों का तर्पण और उनका श्राद्ध करते हैं. ऐसे में आज हम आपको कुछ जरूरी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं पितृ पक्ष में क्या करें और क्या नहीं.

पितरों का श्राद्ध उनकी मृत्यु तिथि पर ही करना चाहिए ।

  1. पितृ पक्ष के दौरान घर की अच्छी तरह से सफाई करनी चाहिए।
  2. पितृ पक्ष में गाय, कुत्ते और कौए को भोजन अवश्य कराना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से पित्तरों को हमारे द्वारा दिया गया भोजन प्राप्त होता है।
  3. .पितृ पक्ष में जिस व्यक्ति का श्राद्ध कर रहे हैं उसका मनपसंद खाना जरूर बनाएं।
  4. पितृ पक्ष में ब्राह्मणों को भोजन अवश्य कराना चाहिए और उन्हें अपने सामर्थ्य के अनुसार दान दक्षिणा अवश्य देनी चाहिए।
  5. पितृ पक्ष में पित्तरों के श्राद्ध के बाद भांजे को भोजन अवश्य कराएं और उससे दक्षिणा देकर आशीर्वाद अवश्य लें।

पितृ पक्ष पर क्या नही करना चाहिए ।

  1. पितृ पक्ष में पित्तरों का श्राद्ध कर्म अवश्य करना चाहिए. यदि आप ऐसा नहीं करते तो आपको पित्तरों का श्राप लगता है।
  2. इस दिन घर में लड़ाई-झगड़ा नहीं करना चाहिए. इससे पितर नाराज हो जाते हैं।
  3. इस समय में अपने घर पर मांस और मदिरा का सेवन भी बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
  4. पितृ पक्ष में आपको किसी भी पशु या पश्री को न तो मारना चाहिए और न हीं सताना चाहिए।
  5. इस समय में किसी भी ब्राह्मण या बुजुर्ग का अपमान तो बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।