Home Uncategorized कहीं आप भी ये गलती तो नहीं कर रहे

कहीं आप भी ये गलती तो नहीं कर रहे

आज हम आपको ऐसे कुछ सुझाव देना चाहता हूँ जो आपके दैनिक जीवन में लाभदायक होंगे

टॉयलेट सीट पर 10 मिनट से ज्यादा समय न बिताएं।
मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि आज के जीवन में अधिकतर जवान लोग शौचालय में अपना फोन लेकर जाते हैं। कुछ लोग अखबार या किताब भी लेकर जाते हैं। टॉयलेट सीट पर बैठकर फोन इस्तेमाल करना अब आम बात हो गई है।

लेकिन अब सुनिए कि ऐसा करना हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है। टॉयलेट सीट पर लम्बे समय तक बैठे रहने से बवासीर (piles) हो सकती है। 10 मिनट से अधिक समय तक बैठने से मलाशय (rectum) में नसों पर बहुत दबाव पड़ता है। रोजाना इतने लम्बे समय तक बैठने से मल त्याग में भी रुकावट आने लगती है।

जब समस्या बढ़ जाती है, तो मल त्याग करना बेहद मुश्किल हो जाता है। तो शौचालय में फोन न लेकर जाएं, क्योंकि फोन में ध्यान देने से व्यक्ति लम्बे समय तक टॉयलेट सीट पर बैठा रहता है। वैसे भी फोन को शौचालय में ले जाना एक गंदी आदत है।

सोने से पहले फोन को अपने पास न रखें।

स्मार्टफोन, टीवी, और लैपटॉप आदि सभी स्क्रीनों में से नीली किरणें निकलती हैं। ये नीली किरणें हमारे शरीर में ऐसे हार्मोन पैदा होने से रोकती हैं जिनसे हमें अच्छी नींद आती है। इनसे हमारे शरीर की जैविक घड़ी में गड़बड़ होती है, और हमारा नींद का चक्र खराब हो जाता है।

अच्छी नींद न मिलने से सरदर्द, तनाव, थकावट आदि जैसे लक्षण दिन में दिखने शुरू हो जाते हैं। सलाह ये है कि सोने से 1 घंटे पहले ही फोन को गुड नाईट बोल दें और फिर सुबह तक उसे हाथ न लगाएं।

 

- Advertisment -

Most Popular

क्या आप मुझे ” ऊंटों ” के बारे में कुछ अद्भुत जानकारी देंगे ?

एक ऊँट सात फीट लम्बा, और 680 किलो का होता है। इन्हें रेगिस्तान में जीने की आदत है, और इस वातावरण के हिसाब...

नैनो कार की असफलता का क्या कारण है

नैनो कार का विज्ञापन भि एक वजह है क्यूकी उसे गरीब कि गाडी कि तौर पर बाजार मे उतारा गया तो उसका नतिजा ये...

लड़कों को पटाने के लिए लड़कियां कौन-कौन से इशारे करती हैं

आइये सीधे ही आपको बताते है उन इशारो के बारे में जो किसी लड़की की तरफ से ग्रीन सिग्नल की तरह किये जाते है। ...

कोरोनावायरस के बारे में संभावित भविष्यवाणियां क्या हैं ?

1-करोना महामारी की वजह से विश्व में एक नई महाशक्ति का उदय होगा और यह महाशक्ति और कोई नहीं बल्कि चीन होगा। 2- अमेरिका और...